25.6 C
Ratlām

रतलाम : अपनी ही सरकार को बताना पड़ रही कमियाँ, NSUI को देख एक्टिव हुई ABVP

सोमवार को NSUI ने किया था मामले में हस्तक्षेप, कोरोना में जनरल प्रमोशन के निर्णय पर सवाल खड़े करते हुए खुद की सरकार में ABVP को देना पड़ा ज्ञापन, एक घण्टे तक विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने उड़ाया कोरोना का मख़ौल

रतलाम : अपनी ही सरकार को बताना पड़ रही कमियाँ, Nsui को देख एक्टिव हुई Abvp
धरना देते ABVP कार्यकर्ता.

रतलाम/इंडियामिक्स : प्रदेश में कोरोना काल मे कॉलेज व स्कूलों की पढ़ाई बिल्कुल ठप्प हो गई थी। जिसको देखते हुए प्रदेश की भाजपा सरकार ने जनरल प्रमोशन करते हुए विद्यार्थियों को पास तो कर दिया मगर अब कॉलेजो में सीट का संकट गहरा गया है। कई विद्यार्थी स्नातक व स्नातकोत्तर में प्रवेश लेने से वंचित हो रहे है। ऐसे में सोमवार को एनएसयूआई अध्यक्ष देवेंद्र सिंह सजावता के साथ कार्यकर्ताओं ने सोमवार को प्रभारी प्राचार्य पी.सी. पाटीदार को विद्यार्थियों को हो रही परेशानियों से अवगत करवाया व सीट बढ़ाने की मांग की गई। इसकी भनक लगने पर आनन फानन में एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने इस विषय पर होड़ लेने के लिए शासकीय अवकाश के दिन आर्ट्स एन्ड साइंस कॉलेज में आंदोलन की बात सोशल मीडिया पर जारी कर दी। देर रात अपनी फ़ज़ीयत का एहसास होने पर आंदोलन को गुरुवार के दिन करने की जानकारी सोशल मीडिया पर डाली गई।

इन सब के बीच जिला संयोजक कृष्णा डिंडोर ने मीडिया से चर्चा में बताया की पिछले कई दिनों से जिले के सभी महाविद्यालयों में प्रवेश को लेकर समस्याएं आ रही थी। कोरोना के कारण जनरल प्रमोशन मिलने से सभी छात्रों का प्रमोशन अगली कक्षा में हो गया है। 12वीं में प्रमोशन के कारण सभी विद्यार्थी कॉलेज में आ गए एवं यूजी अंतिम वर्ष में प्रमोट होने के कारण सभी विद्यार्थी पीजी में आ गए, जिस कारण सभी महाविद्यालयों में सीटें फुल हो गई थी। जिन विद्यार्थियों की परसेंटेज कम थी उनके लिए कहीं भी किसी भी महाविद्यालय में दाखिला नहीं मिल पा रहा था। 5 दिन पूर्व भी प्राचार्य एवं उच्च शिक्षा मंत्री को ज्ञापन देकर इस समस्या के संबंध में अवगत कराया था। आज दिनांक तक कार्रवाई ना होने पर विद्यार्थी परिषद ने महाविद्यालय में आंदोलन प्रदर्शन किया है।
एबीवीपी जिला संयोजक डिंडोर ने जिन बिंदुओं को बताया उनमे खुद की भाजपा सरकार की जनरल प्रमोशन की कमियां गिना दी। खुद की ही सरकार में विद्यार्थी परिषद को क्यों बार बार पब्लिक स्टंट करते हुए सड़को पर आना पड़ता है यह एक बड़ा सवाल है। इस तरह के आंदोलन व कॉलेज में सीट के संकट से जनरल प्रोमोशन के फैसले को भाजपा की शिवराज सरकार को कटघरे में ला कर खड़ा कर दिया है।

हालाँकि इसके बीच लीड कॉलेज प्रचार्य संजय वाते ने अश्वान दिया कि शुक्रवार तक 20 प्रतिशत सीट को बढ़ाया जाएगा। इस दौरान कॉलेज में विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं द्वारा बगैर मास्क धरने पर बैठने के साथ ही रूल ऑफ सिक्स, सोशल डिस्टेंनसिग जैसे कोरोना नियमो का जमकर मख़ौल उड़ाया गया। आपको बता दे कि विपक्षी पार्टी कांग्रेस पर रैली निकालने को लेकर कुछ दिन पूर्व ही माणक चौक थाने पर कोरोना नियमो के उलंघन का प्रकरण दर्ज हो चुका है।

उक्त धरने में विद्यार्थी परिषद की प्रांत सह मंत्री सुरभि रावल, जिला सह संयोजक अनुज पोरवाल, प्रांत कार्यकारिणी सदस्य रागिनी यादव, शुभम कुमावत, इशिका जोशी, ईशा लोदवाल, सोनू पाटीदार, शुभम पंवार सहित विद्यार्थी परिषद के कई कार्यकर्ता उपस्थित रहें।

रतलाम : अपनी ही सरकार को बताना पड़ रही कमियाँ, Nsui को देख एक्टिव हुई Abvp
सोमवर को प्रभारी प्राचार्य से चर्चा करते NSUI के पदाधिकारी.
Please enable JavaScript in your browser to complete this form.
Name
Latest news
Related news