16.1 C
Ratlām

रतलाम : 5 दिन में सुलझाई अंधे कत्ल की गुत्थी, मामले में आईजी-उज्जैन को लेना पड़ा संज्ञान

सरवन में हुआ महिला का अंधा कत्ल पुलिस के उच्चाधिकारियों के निर्देशन में 5 दिन में सुलझाया, महिला की शिनाख्ती बनी थी पुलिस के लिए सबसे बड़ी चुनोती, अवैध सम्बन्ध बने कत्ल की वजह

रतलाम : 5 दिन में सुलझाई अंधे कत्ल की गुत्थी, मामले में आईजी-उज्जैन को लेना पड़ा संज्ञान

रतलाम / इंडियामिक्स रतलाम के सरवन पुलिस थाना अंतर्गत ग्राम कुण्डालपाडा बोरदा के जंगल में दिनांक 23.10.2021 को एक अज्ञात महिला की लाश मिली थी । जिसकी उम्र करीबन 25-30 वर्ष की थी । लाश लावारिस अवस्था में थी तथा महिला का सिर कुचला हुआ था । किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा अज्ञात महिला की सिर में गंभीर चोटे पहुंचाकर हत्या करने का अंदेशा होने पर पुलिस थाना सरवन जिला रतलाम द्वारा अज्ञात व्यक्ति के विरुद्ध अज्ञात महिला की हत्या करने पर अपराध क्रमांक 255/2021 धारा 302 भादवि का दर्ज कर विवेचना में लिया गया ।

          महिला की इतनी जघन्य हत्या के बाद पुलिस महानिरीक्षक संतोष कुमार सिंह उज्जैन जोन, उप पुलिस महानिरीक्षक सुशांत कुमार सक्सेना रतलाम रेंज, सुशांत कुमार सक्सेना तथा रतलाम पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी द्वारा अपराध की प्रकृति को देखते हुए घटना स्थल पर अनुविभागीय अधिकारी (पुलिस) सैलाना संदीप कुमार निगवाल तथा वैज्ञानिक अधिकार FSL युनिट रतलाम अतुल मित्तल को घटना स्थल पहुँचकर घटना की वास्तविकता को जाँचने तथा अपराध घटीत करने वाले अभियुक्त और अज्ञात महिला मृतिका के वारिशान का पता लगाते हुए वैज्ञानिक साक्ष्य संकलित करने हेतु जाँचकर्ता को अपने निर्देशन में कार्यवाही करवाने के लिए निर्देशित किया गया ।

                   अपराध गंभीर एवं सनसनी खेज का होने तथा मृतिका एवं आरोपी अज्ञात होने से प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए रतलाम पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी के निर्देशन में रतलाम अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक डॉ. इन्द्रजीत बाकलवार के नेतृत्व मे अनुविभागीय अधिकारी (पुलिस) सैलाना संदीप कुमार निंगवाल, थाना प्रभारी सरवन एव थाना प्रभारी बाजना की टीम का गठन कर अज्ञात मृतिका महिला का जल्दी पता लगाकर आरोपी की गिरफ्तारी एवं वैज्ञानिक सबूतों को इकठ्ठा करने को कहा गया ।

                 पड़ताल मे लगी टीम द्वारा अज्ञात महिला का पता लगाने के लिए उसके हुलिये व उसके फोटो व उसके शरीर के कपड़ो व आभूषणो के आधार पर मीडिया, सोश्ल मीडिया, Whatsapp ग्रुप्स में जानकारी साझा कर अज्ञात महिला का पता लगाने का प्रयास किया इसके साथ ही वैज्ञानिक तरीको एवं CCTNS पोर्टल में तलाश करने के साथ साथ फोटो के हुलिये के आधार पर आसपास के इलाको में पूछताछ शुरू की जो कई प्रयासो के बाद उस अज्ञात मृतक महिला की पहचान चम्पाबाई पति गिरधारी मईडा उम्र 27 साल निवासी ग्राम कुण्डाल घाटा थाना दानपुर जिला बासवाडा राजस्थान के रूप में हुई ।

            अज्ञात मृतिका की पहचान होने के बाद पुलिस की टीम के द्वारा आरोपी की तलाश तेज़ कर दी गयी व कई गवाहो से पूछताछ के बाद पता चला की मृतिका चम्पा बाई का प्रेम संबंध नारायण पिता उदिया मईडा जाति भील उम्र 25 साल निवासी ग्राम बोरदा थाना सरवन से था, व पुलिस जांच में वैज्ञानिक सबूतों के आधार पर भी मृतिका का आरोपी नारायण से संपर्क व बात चीत होना सिद्ध होने पर एवं मृतिका के आभूषण व मृतिका के मोबाइल के टूटे हुए टुकड़े आरोपी के कब्जे से जप्त होने पर आरोपी से सक्ती से पूछताछ की गई जिसके उपरांत आरोपी द्वारा जुर्म करना स्वीकार किया जिसे पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया गया ।

किस तरह घटना को अंजाम दिया गया

घटना दिनांक 22.10.2021 को आरोपी नारायण मृतिका चम्पाबाई को अपने साथ अपनी मोटर सायकल से घेडीतेजपुर से घटना स्थल बोरदा कुण्डालपाड़ा के जंगल लेकर आया तथा शारीरिक सम्बंध स्थापित करने के उपरांत मृतिका द्वारा आरोपी से उसकी पत्नि बनकर घर पर रहने का दबाव बनाने पर विवाद हुआ तब आरोपी नारायण द्वारा मृतिका के सिर पर पत्थर मार कर कुचल कर हत्या कर दी ।

किस मकसद से हत्या की गयी

नसनीखेज हत्या करने का मुख्य उद्देश्य आरोपी नारायण मईडा तथा मृतिका चम्पाबाई का पिछले दो माह से आपस मे प्रेम प्रसंग होने तथा दोनो आपस में लगातार मिलते जुलते रहे थे । मृतिका चम्पा बाई द्वारा आरोपी नारायण के साथ उसकी पत्नि बनकर घर पर रहने का दबाव बनाने पर आरोपी द्वारा मृतिका को पत्नि बनाकर ना रखते हुए ऐसे ही अवैध सम्बंध बनाये रखने हेतु दवाब बनाया गया, जिससे मृतिका चम्पा राजी नहीं थी । इसी बात के विवाद को लेकर आरोपी द्वारा घटना को अंजाम दिया गया ।

गिरफ्तार आरोपी

नारायण पिता उदिया मईडा जाति भील उम्र 25 साल निवासी ग्राम बोरदा थाना सरवन

आरोपी से की गयी जप्ती

  • मृतिका के मोबाइल के टुकड़े
  • मृतिका के गहने चाँदी की पायल व कमर बंद
  • आरोपी के खून भरे कपड़े
  • आरोपी का मोबाइल

केस को सुलझाने में महत्वपूर्ण भूमिका इनकी रही

उक्त अंधे कत्ल की पतराशि व आरोपीओ की गिरफ्तारी में अतुल मित्तल, वैज्ञानिक अधिकारी FSL युनिट रतलाम 02 संदीप कुमार निगवाल, अनुविभागीय अधिकारी (पुलिस) सैलाना जिला रतलाम, निरीक्षक आनंद भाबोर थाना प्रभारी सरवन, निरीक्षक रेवलसिंह बरडे थाना प्रभारी बाजना, उनि आनंद बागवान, उनि अलकेश सिंगाड, प्र.आर. 136 कोदरसिंह चारेल, कार्यवाहक प्र. आर. 228 शैलेन्द्रसिह सोलंकी, कार्यवाहक प्र. आर. 334 रघुवीरसिंह शक्तावत, कार्यवाहक प्र. आर. 671 विजय झोडिया, कार्यवक प्र. आर. 243 राजेन्द्र कुमार पानेरी, आर. 752 तुफान भुरीया, आर 68 चन्दर मार्को, आर. 1058 पुष्कर धाकड, आर. 218 विपुल भावसार, आर. 1060 भरत जाट, आर. 960 विजयसिंह मण्डलोई सैनिक 173 विश्राम निनामा की महत्वपूर्ण भूमिका रही जिन्हे पुरुस्कृत किया जावेगा ।

Please enable JavaScript in your browser to complete this form.
Name
Latest news
Related news