26.2 C
Ratlām

रतलाम : दुल्हन के हत्यारो को पुलिस ने किया गिरफ्तार, 24 घण्टे में मामले का खुलासा

पुलिस कप्तान श्री तिवारी ने दी जानकारी, दिनदहाड़े हुई नृशंस हत्या पर से पुलिस ने 24 घण्टे के भीतर उठाया पर्दा, ट्रेसिंग से पहुंची आरोपियों तक, आरोपीयो के भाजपा पदाधिकारी होने की बात नकारी भाजपा जिलाध्यक्ष ने

रतलाम : दुल्हन के हत्यारो को पुलिस ने किया गिरफ्तार, 24 घण्टे में मामले का खुलासा
गिरफ्तार आरोपी


रतलाम : इंडियामिक्स न्यूज़ रविवार सुबह जावरा के एक ब्यूटी पार्लर में मेकअप करवाने गयी दुल्हन की दो अज्ञात आरोपीयो द्वारा गला रेत कर नृशंस हत्या कर दी गयी थी जिसके बाद से नगर में सनसनी फैल गयी थी। घटना के बाद पुलिस ने मामले को संज्ञान में लेते हुए एक्शन मोड में त्वरित कार्रवाई करते हुए ट्रेसिंग की सहायता से 24 घण्टे के भीतर ही आरोपियों को ढूंढ निकाला जिसमे से एक सहआरोपी 6 घण्टे में गिरफ्तार हो गया वहीं मुख्य आरोपी भी 12 घण्टे में गिरफ्त में पुलिस द्वारा ले लिया गया। दोनों आरोपीयो का भाजपा में पद पर होना भी सामने आया है जिस पर भाजपा जिलाध्यक्ष ने इस बात से इनकार किया है।

पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी ने प्रेसवार्ता कर मामले का खुलासा करते हुए पूरी जानकारी दी। साथ ही श्री तिवारी ने अपराधियो को पकड़ने वाली टीम को 20 हजार रुपये नगद इनाम देने की भी घोषणा की। प्रेसवार्ता में एएसपी इन्द्रजीत बाकरवाल,जावरा सीएसपी पीएस राणावत और जावरा थाना प्रभारी वीडी जोशी भी मौजूद थे। श्री तिवारी ने बताया की रविवार सुबह 9 बजे शाजापुर निवासी सोनू पिता कमल यादव(32) निवासी नागदा अपनी शादी के लिए जावरा पहुंची थी। यहाँ उसकी शादी नागदा निवासी गौरव वागरेचा के साथ होना थी। यह मृतिका सोनू की दूसरी शादी थी पहले पति से उसका तलाक हो चुका था। शादी समारोह को सम्पन्न करने के लिए दोनों पक्ष जावरा के एक रिसोर्ट में आये हुए थे यहीं दोनों की शादी होने थी। अपनी बहन के साथ सुबह दुल्हन सोनू जब पार्लर गयी तब आरोपी युवक राम यादव व पवन पांचाल निवासी रतलाम ने पार्लर में घुस कर सोनू की गला रेत कर नृशंस हत्या कर दी। दोनों आरोपी पवन पांचाल व राम यादव को गिरफ्तार कर लिया गया है

ऐसे दिया घटना को अंजाम

रतलाम : दुल्हन के हत्यारो को पुलिस ने किया गिरफ्तार, 24 घण्टे में मामले का खुलासा

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार सोनू और राम के बीच पूर्व से ही तीन साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था। जिस पर आरोपी राम ने मृतिका को तीन दिन पहले फोन पर धमकी दी थी कि वह उससे शादी नहीं करेगी तो मार दूँगा।हत्या से पहले दुल्हन सोनू के मोबाइल पर आरोपी राम ने फ़ोन किया जिसके बाद फोन सोनू की बहन रुचि ने उठाया जिस पर राम ने अपना नाम राहुल बताया व रिश्तेदार होने की बात कही और सोनू से बात करवाने को कहा। राम ने सोनू से बात कर उसका पार्लर में होना कन्फर्म किया। जिसके बाद पार्लर में जा कर नृशंस हत्या कर दी। हत्या के पूर्व मुख्य आरोपी ने योजना बनाई व तीन दिन पहले ही ब्रेड काटने वाला बडा चाकू खरीदा था।

फ़ोन ट्रेसिंग व फूटेज से हाथ लगे आरोपी

श्री तिवारी ने जानकारी देते हुए बताया कि हत्या के बाद पुलिस तुरन्त मामले की जाँच में जुट गयी। सीएसपी राणावत व थाना प्रभारी वीडी जोशी ने बहन रुचि से पूछताछ की, रुचि के बताए अनुसार आखरी बार आये फ़ोन नम्बर की ट्रैकिंग शुरू की। इसके बाद परिजनों से पूछताछ के दौरान एक युवक की जानकारी सामने आई जो की संदिग्ध थी। ब्यूटी पार्लर के सीसीटीवी व कॉल डिटेल के आधार पर पुलिस आरोपियों की तलाश में जुट गयी। जिसके बाद एसपी गौरव तिवारी खुद मौके पर पहुंच कर मामले में संज्ञान लिया व मीले आधारों पर 2 युवकों को ट्रेस किया। घटनास्थल के सीसीटीवी कैमरों की मदद से पुलिस को पता चला कि वारदात करने वाले दो व्यक्ति मोटर साइकिल से वहां पंहुचे थे। मोटर साइकिल का नम्बर भी पुलिस को पता लग गया। इसी आधार पर रतलाम के सीसीटीवी फुटेज से पता चला कि हत्या में शामिल दोनो व्यक्ति सुबह 6.30 बजे रतलाम से मोटल साइकिल से निकले थे। रतलाम के पुलिस आरक्षक अभिषेक पाठक ने उक्त दोनों व्यक्तियों की पहचान पवन पांचाल और राम यादव के रुप में की। आरोपियों की सर्चिंग करते हुए पुलिस ने बंजली हवाईपट्टी के समीप एक संदिग्ध व्यक्ति को पकडा। पूछताछ में उसने अपना नाम पवन पिता इश्वरलाल पांचाल (23) निवासी जाटों का वास बताया। पवन से जब कड़ी पूछताछ की गई तो उसने हत्या की पूरी कहानी सामने रखी।
हत्या के मुख्य आरोपी राम यादव की तलाश के दौरान पुलिस को सूचना मिली कि वह मण्डफिया,(श्री सांवरिया सेठ मन्दिर, राजस्थान) की तरफ गया है। पुलिस की एक टीम फौरन सांवरिया जी रवाना हो गई। इस टीम ने मुख्य आरोपी राम पिता राजेन्द्र यादव (27) निवासी जाटों का वास को सांवरिया जी मन्दिर के आसपास घूमते हुए देखा व धरदबोचा। दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया जा रहा है।

आरोपी का भाजपा से नहीं लेना-देना- श्री लूनेरा

जावरा हत्याकांड में जिन आरोपियों के नाम सामने आए हैं उन्हें 6 माह पूर्व ही पार्टी से निष्कासित कर दिया गया था। उनका भाजपा से कोई लेना देना नहीं है। दोनों पर कड़ी से कड़ी कानूनी कार्रवाई की जाए – राजेन्द्र सिंह लुनेरा, जिलाध्यक्ष- भाजपा

.
Please enable JavaScript in your browser to complete this form.
Name
Latest news
Related news