23.4 C
Ratlām

उज्जैन : खून से लिखा मुख्यमंत्री को पत्र, मांगा इंसाफ

मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान मामाजी शासन के भ्रष्टाचारियों की सैकड़ों शिकायत करने पर भी प्रशासन द्वारा संज्ञान नहीं लेने पर खून से पत्र लिख रहा हूं,

उज्जैन : खून से लिखा मुख्यमंत्री को पत्र, मांगा इंसाफ

उज्जैन / इंडियामिक्स न्यूज़ एएनएम माया की मौत के बाद स्वास्थ्य विभाग की धोखाधड़ी के शिकार हुए उसके पति धनेश जिंदल ने मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के नाम अपने खून से पत्र लिखा। इस पत्र में उसने खुद के एवं पुत्री मान्या जिंदल के साथ हुई धोखाधड़ी का दर्द बयां किया है।


धनेश जिंदल ने अपने खून से पत्र में लिखा कि मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान मामाजी शासन के भ्रष्टाचारियों की सैकड़ों शिकायत करने पर भी प्रशासन द्वारा संज्ञान नहीं लेने पर खून से पत्र लिख रहा हूं, मुझे, मेरी पुत्री मान्या जिंदल को इंसाफ दो, भ्रष्टाचारियों देश के गद्दारों को जेल में डालो या फांसी दो। जल्द से जल्द कार्यवाही हो। मुख्यमंत्रीजी मेरी एवं मेरी पुत्री के साथ हुई धोखाधड़ी गहन षड़यंत्र, भ्रष्टाचार के खिलाफ सैकड़ों पत्र लिखकर शासन प्रशासन को अवगत कराया।

किंतु अब तक किसी के कानों पर जूं तक नहीं रेंगी जिससे मेरा एवं मेरी पुत्री को गहरा आघात पहुंचा है। जिस कारण मैं आपको खून से पत्र लिख रहा हूं। मेरे एवं मेरी पुत्री के साथ न्याय हो और गद्दारों को जल्द से जल्द जेल हो।

ज्ञातव्य है कि धनेश जिंदल की पत्नी माया जिंदल एएनएम थी जिसकी मौत प्रसूति के दूसरे दिन हुई थी, एक दिन की पुत्री मान्या के सर से मां का साया तो गया ही स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने नामिनी में छेड़छाड़ कर उस मासूम का हक भी किसी ओर को दे दिया। जिसके विरोध में धनेश द्वारा कई शिकायतें की गई लेकिन किसी पर कोई असर नहीं हुआ, अब धनेश ने खून से मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर न्याय की मांग की है।

उज्जैन। एएनएम माया की मौत के बाद स्वास्थ्य विभाग की धोखाधड़ी के शिकार हुए उसके पति धनेश जिंदल ने मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के नाम अपने खून से पत्र लिखा। इस पत्र में उसने खुद के एवं पुत्री मान्या जिंदल के साथ हुई धोखाधड़ी का दर्द बयां किया है।
धनेश जिंदल ने अपने खून से पत्र में लिखा कि मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान मामाजी शासन के भ्रष्टाचारियों की सैकड़ों शिकायत करने पर भी प्रशासन द्वारा संज्ञान नहीं लेने पर खून से पत्र लिख रहा हूं, मुझे, मेरी पुत्री मान्या जिंदल को इंसाफ दो, भ्रष्टाचारियों देश के गद्दारों को जेल में डालो या फांसी दो। जल्द से जल्द कार्यवाही हो। मुख्यमंत्रीजी मेरी एवं मेरी पुत्री के साथ हुई धोखाधड़ी गहन षड़यंत्र, भ्रष्टाचार के खिलाफ सैकड़ों पत्र लिखकर शासन प्रशासन को अवगत कराया।

किंतु अब तक किसी के कानों पर जूं तक नहीं रेंगी जिससे मेरा एवं मेरी पुत्री को गहरा आघात पहुंचा है। जिस कारण मैं आपको खून से पत्र लिख रहा हूं। मेरे एवं मेरी पुत्री के साथ न्याय हो और गद्दारों को जल्द से जल्द जेल हो।

ज्ञातव्य है कि धनेश जिंदल की पत्नी माया जिंदल एएनएम थी जिसकी मौत प्रसूति के दूसरे दिन हुई थी, एक दिन की पुत्री मान्या के सर से मां का साया तो गया ही स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने नामिनी में छेड़छाड़ कर उस मासूम का हक भी किसी ओर को दे दिया। जिसके विरोध में धनेश द्वारा कई शिकायतें की गई लेकिन किसी पर कोई असर नहीं हुआ, अब धनेश ने खून से मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर न्याय की मांग की है।

Please enable JavaScript in your browser to complete this form.
Name
Latest news
Related news