25.6 C
Ratlām

रतलाम : हत्या की सुपारी देना पड़ा महँगा, चारो आरोपी पुलिस की गिरफ्त में

जबरदस्ती दे रहे थे युवक को हत्या की सुपारी, युवक पहुँचा पुलिस के पास और दी जानकारी, पुलिस ने तुरन्त चारो आरोपियों को उठाया, पिस्टल व जिंदा कारतूस बरामद

रतलाम : हत्या की सुपारी देना पड़ा महँगा, चारो आरोपी पुलिस की गिरफ्त में
आरोपियों से बरामद हत्यार

रतलाम IMN, रतलाम पुलिस ने सुपारी देकर हत्या करवाने वाले चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। उक्त खुलासा आज दोपहर में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर एसपी गौरव तिवारी ने किया। इनके पास से 2 पिस्टल व जिंदा कारतूस भी बरामद किए गए। आपको बता दे कि चारो आरोपियों की सोमवार शाम गिरफ्तारी के बाद से ही हर कोई असमंजस में था की आखिर मामला क्या है? पुलिस ने बड़ी ततपरता के साथ इस मामले में गिरफ्तारी कर मामले से पर्दा उठाया।

पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी ने पुलिस कंट्रेल रुम पर आयोजित प्रेस वार्ता में उक्त मामले की विस्तार से जानकारी दी। श्री तिवारी ने बताया कि फरियादी मुकुल पंवार का किसी बात को लेकर पिन्टू टांक नामक व्यक्ति से करीब दो वर्ष पूर्व विवाद हो गया था। फरियादी मुकुल और पिन्टू टांक के बीच हुए विवाद की जानकारी बलवन्त गोयल नामक व्यक्ति को थी। बलवन्त गोयल का भी पिन्टू टांक से पुराना विवाद था।


जून जुलाई 2020 के दौरान बलवन्त उर्फ बल्ली गोयल ने फरियादी मुकुल टांक को आशापुरा होटल पर बुलाया। होटल पर बलवन्त के साथ तीन अन्य व्यक्ति दीपक उर्फ दीपू टांक,विनोद उर्फ वीनू शर्मा,और अविनाश उर्फ चिन्टू टांक भी मौजूद थे। इनमें से दीपक उर्फ दीपू टांक ब्याज पर रुपए उधार देने का काम करता है और फरियादी मुकुल पांवार को भी उसने करीब डेढ साल पहले पचास हजार रु. उधार दिए थे।


आरोपियों ने फरियादी मुकुल पंवार से उधार दिए पचास हजार रुपए तथा ब्याज की मांग की और जब मुकुल ने उधारी तत्काल चुकाने में असमर्थता व्यक्त की,तो उन्होने मुकुल के सामने पिन्टू टांक की हत्या करने का प्रस्ताव रखा। आरोपियों ने कहा कि वे मुकुल पंवार को हत्या के लिए हथियार भी मुहैया करवा देंगे और उधार लिए गए पचास हजार रु. की वसूली भी माफ कर देंगे। इसके एवज में उसे पिन्टू टांक की हत्या करना होगी। आरोपियों ने मुकुल पंवार से यह भी कहा कि यदि वह पिन्टू टांक की हत्या कर देता है,तो उसे दो लाख रु. अलग से देंगे और यदि जेल जाने की नौबत आई तो वे सारा खर्चा भी उठाएंगे।

रतलाम : हत्या की सुपारी देना पड़ा महँगा, चारो आरोपी पुलिस की गिरफ्त में

उस समय तो मुकुल पंवार ने उनके प्रस्ताव को जैसे तैसे टाल दिया। लेकिन आरोपियों ने फिर से 22 मार्च 2021 को मुकुल पंवार पर दबाव बनाया और हत्या ना करने पर उधारी में दिए पचास हजार रु. के बदले चार गुना रकम वसूलने की धमकी दी।
आरोपियों द्वारा बार बार हत्या करने के लिए दबाव बनाने और धमकियां देने से परेशान होकर फरियादी मुकुल पंवार औद्योगिक क्षेत्र पुलिस थाने पर पंहुचा और उसे पुलिस को पूरी घटना की जानकारी दी। उक्त जानकारी तत्काल पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी को दी गई। एसपी श्री तिवारी ने घटना की गंभीरता को देखते हुए त्वरित कार्यवाही के लिए सीएसपी हेमन्त चौहान के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया। इस टीम में औ क्षेत्र थाना प्रभारी नीरज सारवान माणक चौक थाना प्रभारी अयूब खान इत्यादि भी शामिल थे। आरोपियों के विरुद्ध आम्र्स एक्ट और ऋणियों का संरक्षण अधिनियम समेत अनेक धाराअओं में प्रकरण दर्ज किया गया। पुलिस टीम ने फरियादी मुकुल पंवार से आरोपियों के आडियो विडीयो साक्ष्य भी संकलित किए गए।


पुलिस ने त्वरित कार्यवाही करते हुए प्रकरण के चारों आरोपियों दीपू उर्फ दीपक पिता प्रकाश टांक 32 नि.दीनदयाल नगर उसके भाई अविनाश उर्फ चिन्टू टांक 33 वर्ष,बबलू उर्फ बल्ली उर्फ बलवन्त पिता देवीसिंह राजपूत 34 नि.राजेन्द्र नगर और वीनू उर्फ विनोद पिता प्यारेलाल शर्मा 28 नि.दीनदयाल नगर को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने दीपू उर्फ दीपक टांक और विनोद उर्फ वीनू शर्मा के कब्जे से एक एक पिस्टल और दो दो जिन्दा कारतूस भी जब्त किए है।

चारो आरोपी आदतन अपराधी:-


पुलिस अधीक्षक गौरव तिवारी ने बताया कि गिरफ्तार किए गए चारो आरोपी आदतन अपराधी है और इनके विरुद्ध कई आपराधिक प्रकरण पूर्व से दर्ज है। आरोपी दीपू टांक के खिलाफ विभिन्न थानों पर 32 आपराधिक प्रकरण दर्ज है,जिसमें हत्या के प्रयास जैसे गंभीर प्रकरण भी है। इसके अलावा अविनाश उर्फ चिन्टू टांक के खिलाफ 07 आपराधिक प्रकरण,बलवन्त राजपूत के खिलाफ 7 आपराधिक प्रकरण और विनोद शर्मा के खिलाफ 03 अपराध दर्ज है।

Please enable JavaScript in your browser to complete this form.
Name
Latest news
Related news